पटना हाई कोर्ट की सरकार से मांग, फर्जी डिग्री लेकर नौकरी करने वाले शिक्षकों का दें ब्योरा

पटना हाई कोर्ट ने बिहार के सरकारी स्कूलों में बड़े पैमाने पर फर्जी डिग्री के आधार पर बहाल शिक्षकों के मामले में कड़ा रूख अपनाया है. दरअसल हाई कोर्ट ने राज्य सरकार और निगरानी विभाग से इस मामले में अब तक की गई कार्रवाईयों का ब्यौरा तलब किया है. रणजीत पण्डित की जनहित याचिका पर सोमवार को पटना हाईकोर्ट में जस्टिस एस पांडेय की खंडपीठ ने सुनवाई की.

Loading...

दरअसल, सुनवाई के दौरान कोर्ट को बताया गया कि इससे पहले कोर्ट ने निगरानी विभाग को इस मामले की जांच का जिम्मा दिया था लेकिन जिन पर प्राथमिकी भी दायर की गई है वो शिक्षक आज भी काम कर रहे हैं और वेतन ले रहें हैं. कोर्ट ने राज्य सरकार और निगरानी विभाग द्वारा अब तक की गई कार्रवाईयों का पूरा रिपोर्ट अगली सुनवाई में पेश करने का निर्देश दिया है.

आपको बता दें कि कोर्ट को यह भी बताया गया कि अभी भी बड़ी संख्या में फर्जी डिग्री पर शिक्षक इन सरकारी स्कूलों में कार्यरत हैं. इस मामले की अगली सुनवाई 6 सप्ताह बाद की जाएगी. मालूम हो कि बिहार के सरकारी स्कूलों में फर्जी डिग्री पर नौकरी करने के मामले समय-समय पर आते रहे हैं. हाल ही में मोतिहारी में ऐसे ही एक मामले में दो दर्जन से अधिक शिक्षकों के खिलाफ एफआईआर दर्ज किया गया था.

About author