नीतीश कुमार को लेकर गिरिराज की बयानबाजी से केंद्रीय नेतृत्व नाराज, गठबंधन धर्म निभाने की मिली नसीहत

पटना में बाढ़ और जलजमाव की स्थिति को लेकर बीजेपी के फायरब्रांड नेता और केंद्रीय मंत्री गिरिराज सिंह लगातार ही नीतीश कुमार पर निशाना साध रहे थे. इस बात पर जेडीयू ने कई बार ऐतराज भी जताया है, लेकिन वे रुकने का नाम नहीं ले रहे. अब इसको लेकर केंद्रीय नेतृत्व ने उन्हें गठबंधन विरोधी बयानबाजी नहीं करने की सलाह दी है. बीजेपी के कार्यकारी अध्यक्ष जेपी नड्डा ने गिरिराज सिंह को गठबंधन धर्म निभाने की भी नसीहत दी है. बीजेपी आलाकमान का यह संदेश उन तक पहुंचा दिया गया है.

Loading...

दरअसल, मुख्‍यमंत्री नीतीश कुमार इसे प्राकृतिक आपदा बता रहे हैं तो केंद्रीय मंत्री गिरिराज सिंह ने इसके लिए सीधे तौर पर सीएम को जिम्‍मेदार ठहराया. यही नहीं पूरे एनडीए की तरफ से जनता से माफी मांग उन्‍होंने जेडीयू की जिम्‍मेदारी भी तय करने की कोशिश की. इस बात पर जेडीयू की ओर से केंद्रीय नेतृत्व पर गिरिराज सिंह की बयानबाजी पर रोक लगाने की अपील की गई थी. हालांकि, जेडीयू के प्रधान महासचिव केसी त्यागी ने क कहा कि अमित शाह और पीएम मोदी पहले भी उनके साथ डांट-डपट कर चुके हैं, लेकिन वह (गिरिराज सिंह) ग़लतबयानी के अभ्‍यस्‍त हैं. इसलिए हम केंद्रीय नेताओं का दखल चाहते हैं. हालांकि, गिरिराज सिंह रुक जाएंगे इस पर उन्होंने संदेह भी जता दिया है.

आपको बता दें कि केसी त्यागी ने बीते शुक्रवार को कहा था कि जो काम तेजस्वी यादव नहीं कर पाए, उससे ज्यादा सरकार को नुकसान पहुंचाने का काम गिरिराज सिंह कर रहे हैं. उन्होंने कहा कि बिहार सरकार में बीजेपी-जेडीयू के मंत्री या एलजेपी के नेता दिन-रात प्रयास कर रहे हैं कि कैसे बाढ़ और उसके बाद के खतरे से निपटा जाए, वहीं गिरिराज सिंह इसमें खलल डाल रहे हैं. इस बीच गिरिराज सिंह को केंद्रीय नेतृत्व की नसीहत पर कांग्रेस के प्रदेश प्रवक्ता वीके ठाकुर ने तंज कसते हुए कहा कि यह बीजेपी और जदयू का नूरा कुश्ती का खेल है, ये अधिक देर तक नहीं चलता है. NDA के अंदर ‘घूंघट और नृत्य’ का दौर बदस्तूर जारी रहेगा. जनता नेताओं के ‘बहुरूपियेपन’ से आजिज हो गई है.

About author