CM नीतीश ने गांधी मैदान में किया रावण वध, नहीं पहुंचे बीजेपी के नेता

दशहरा समाप्‍त होने के बाद अब मां दुर्गा की प्रतिमाओं के विसर्जन की तैयारी शुरू हो गई है. मंगलवार को पटना में मुख्‍य आयोजन गांधी मैदान में शाम में किया गया जहां रावण वध मुख्‍यमंत्री नीतीश कुमार ने किया. इस महत्‍वपूर्ण कार्यक्रम में भारतीय जनता पार्टी (बीजेपी) के नेताओं की अनुपस्थिति गौर करने की बात रही. इसके पहले सोमवार को कार्यक्रम के लिए बनाई गई रावण की प्रतिमा गिर गई थी. हालांकि, देर रात तक उसे फिर से खड़ा कर दिया गया था. पटना में पटना में जलजमाव की त्रासदी को देखते हुए इस बार सादगी से रावण वध कार्यक्रम मनाया गया और आतिशबाजी को भी कम हुई.

Loading...

गांधी मैदान में कार्यक्रम का उद्घाटन व पुतला दहन मुख्‍यमंत्री नीतीश कुमार ने किया लेकिन इस दौरान भारतीय जनता पार्टी के नेताओं की अनुपस्थिति देखने वाली थी. दशहरा के अवसर पर पूरे बिहार में रावण वध कार्यक्रम का आयोजन किया गया. पटना के गांधी मैदान में रावण का 75 फीट का पुतला बनाया गया. कुंभकर्ण व मेघनाद के पुतले भी क्रमश: 70 फीट और 65 फीट के थे. गांधी मैदान में देर शाम मुख्‍यमंत्री नीतीश कुमार ने शाम में कार्यक्रम का उद्घाटन व रावण वध किया.

आपको बता दें कि कार्यक्रम में शामिल होने के लिए भगवान राम की सेना यूथ हॉस्‍टल से लगभग साढ़े चार बजे निकली. मुख्‍यमंत्री नीतीश कुमार करीब 4.45 बजे गांधी मैदान पहुंचे. गांधी मैदान में ही अशोक वाटिका बनाई गई थी. कार्यक्रम में रामायण के विभिन्‍न प्रसंगों (लंका दहन, मेघनाद व कुंभकर्ण वध आदि के दृश्‍य) की झांकियां दिखाई गईं. अंत में मुख्‍यमंत्री नीतीश कुमार ने तीर चलाकर रावण का पुतला जलाया. इसके साथ ही पूरा मैदान जयश्रीराम से उद्घोष से गूंज उठा.

About author